परिवार नियोजन अलख जगाने रवाना हुए ‘सारथी वाहन’, अपर निदेशक ने दिखाई हरी झंडी

Date:

Share post:

  • मातृ शिशु स्वास्थ्य को बनाए रखने में परिवार नियोजन की भूमिका अहम – अपर निदेशक
  • जनपद में शुरू हुआ विश्व जनसँख्या पखवाड़ा, गोष्ठी कर किया जागरूक
  • परिवार नियोजन अपनाने से मातृ मृत्यु में 30% व शिशु मृत्यु में 10% तक आ सकती है कम
  • परिवार नियोजन कार्यक्रम में बेहतर कार्य करने वाले चिकित्सकों सहित आशायें सम्मानित

कानपुर नगर। मातृ शिशु स्वास्थ्य को बनाए रखने में और मातृ शिशु मृत्यु दर को कम करने में परिवार नियोजन की अहम भूमिका है। ऐसे में परिवार नियोजन सेवाओं को समुदाय स्तर पर निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति के लिए परिवार नियोजन साधनों की ग्राह्यता को बढ़ाना जरूरी है। यह कहना है चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, कानपुर मंडल की अपर निदेशक डॉ संजू अग्रवाल का। वह गुरुवार को मुख्य अतिथि के रूप में विश्व जनसँख्या दिवस के अवसर पर मां कांशीराम जिला संयुक्त चिकित्सालय एवं ट्रॉमाँ सेंटर में आयोजित गोष्ठी को सम्बोधित कर रहीं थी।
11 जुलाई को मनाये जाने वाले विश्व जनसँख्या दिवस से ही कानपुर सहित पूरे प्रदेश में विश्व जनसँख्या पखवाड़ा की भी शुरुआत हुई। अपर निदेशक ने चिकित्सालय परिसर से परिवार नियोजन कार्यकम के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से सारथी वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। सारथी वाहन द्वारा परिवार नियोजन के स्थाई व अस्थाई साधनों के प्रति समुदाय को जागरूक किया जाएगा।
इस दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ आलोक रंजन ने कहा कि इस बार पखवाड़े की थीम “माँ और बच्चे की भलाई के लिए गर्भधारण का स्वस्थ समय और अंतराल” निर्धारित की गई है. साथ ही इसका स्लोगन “विकसित भारत की नई पहचान, परिवार नियोजन हर दंपत्ति की शान” रखा गया है। 11 से 24 जुलाई तक चलने वाले सेवा प्रदायगी पखवाड़ा में चिकित्सा इकाइयों पर इच्छुक लाभार्थियों की परिवार नियोजन के विभिन्न गर्भ निरोधक साधनों के बारे में चिकित्सक, सर्जन, स्टाफ नर्स, एएनएम, सीएचओ और आशा कार्यकर्ताओं के द्वारा बेहतर काउन्सलिन्ग की जाएगी, जिससे वह साधनों का लाभ ले सकें। इसके साथ ही पखवाड़े के अंतर्गत नगरीय व ग्रामीण स्तरीय सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर नसबंदी नियत सेवा दिवस कैंप लगाए जाएंगे, जिसमें इच्छुक लाभार्थी नसबंदी की सेवा ले सकेंगे।
परिवार कल्याण कार्यक्रम के नोडल व एसीएमओ डॉ रमित रस्तोगी ने बताया की परिवार नियोजन अपनाने से अनचाहे गर्भ और गर्भ से सम्बंधित जटिलताओं को कम करने से जहाँ एक ओर मातृ मृत्यु में 30% वहीँ दूसरी ओर शिशु मृत्यु में 10%तक कमी हो सकती है यानि परिवार नियोजन से 3000 महिलाओं एवं 22000 शिशुओं को बचाया जा सकता है। इसके साथ ही बताया कि जनपद स्तर पर दो सारथी वाहन कुल चार कार्य दिवस के लिए और ब्लाक स्तर पर तीन सारथी वाहन कुल चार कार्य दिवस के लिए संचालित किए जा रहे हैं जो निर्धारित क्षेत्र में जाकर जनमानस को जागरूक करने का कार्य करेंगे।

इस दौरान चिकित्सालय के सीएमएस (कार्यवाहक) डॉ नवीन चंद्र, वरिष्ठ परामर्शदाता डॉ पीयूष मिश्रा, समस्त अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, समस्त उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी, सिफ़्प्सा के मंडलीय कार्यक्रम प्रबन्धक राजन प्रसाद, डीपीएम, डीसीपीएम, मंडलीय एफपीएलएमआईएस एवं लॉजिस्टिक्स प्रबंधक अर्जुन प्रजापति, सहयोगी संस्थाओं यूपीटीएसयू एवं पीएसआई के प्रतिनिधि, जिला मातृ स्वास्थ्य परामर्शदाता, आशा बहुएँ, एएनएम सहित सीएमओ कार्यालय का पूरा सटाफ मौजूद था।

बेहतर कार्य के लिये चिकित्सक व आशा बहु हुईं सम्मानित

पिछले वर्ष परिवार नियोजन में बेहतर कार्य के लिए जनपद के जिला चिकित्सालय सहित स्वास्थ्य केंद्रों में परिवार नियोजन क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने वालों को अपर निदेशक द्वारा प्रशस्ति पत्र प्राप्त हुआ। जिला महिला चिकित्सालय की सीएमएस डॉ रूचि जैन, सीएचसी बिधनू की सर्जन डॉ मनीषा शुक्ला, सीएचसी कल्याणपुर की सर्जन डॉ अर्चना व स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ अंजलि सचान, सीएचसी शिवराजपुर के प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ अनुज दिक्षित को सम्मानित किया गया। इसके साथ ही सीएचसी बिल्हौर की आशा नीलम देवी को सर्वाधिक पुरुष नसबंदी, सीएचसी कल्याणपुर की आशा निषाद को सर्वाधिक महिला नसबंदी , सीएचसी पतारा की आशा मिथलेश सविता को सर्वाधिक पीपीआईयूसीडी , सीएचसी भीतरगांव की आशा अर्चना द्विवेदी को सर्वाधिक अंतरा अंतरा इंजेक्शन लगवाने के लिये प्रेरित करने पर सम्मानित किया गया।

परिवार नियोजन सामग्री की लगी स्टॉल प्रदर्शनी

स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से चिकित्सालय परिसर में सहयोगी संस्थाओं यूपीटीएसयू एवं पीएसआई की टीम द्वारा परिवार नियोजन की सामग्री का स्टॉल लगाया था। बड़ी संख्या में महिलाओं ने उपलब्ध की जानकारी ली। मौजूद परामर्शदाताओं ने परिवार नियोजन सम्बंधित परामर्श भी दिया। अपर निदेशक ने इस प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया।

Author

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

वर्ल्ड एजुकेशन समिट एंड अवार्ड से सम्मानित हुई डॉ0 आकृति अग्रहरि

सुल्तानपुर। संविधान क्लब ऑफ इंडिया दिल्ली में वर्ल्ड एजुकेशन समिट एंड अवार्ड 20 जुलाई 2024 को आयोजन हुआ।...

वरिष्ठ समाजसेवी एवं लोकतंत्र सेनानी ने अपने जन्मदिन पर मरीजों को वितरित किया फल

जरवल, बहराइच। नगर के वरिष्ठ समाजसेवी एवं लोकतंत्र सेनानी प्रमोद कुमार गुप्ता ने अपनी 73वीं जन्मदिवस पर सामुदायिक...

भारतीय मूल की कमला हैरिस के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में आने से भारत पर क्या असर होगा?

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव धीरे-धीरे दिलचस्प होता चला जा रहा है। जो बाइडेन ने राष्ट्रपति चुनाव से अपनी...

भाजपा व आरएसएस में वाजपेयी जी के ज़माने वाला समन्वय अब भी जरुरी

आज गुरु पूर्णिमा का दिन है । जगह – जगह संघ में उनके गुरु (संघ का भगवा ध्वज...